How the Camel got his hump Hindi Summary

How the Camel got his hump Hindi Summary NCERT English Class 8 Chapter 1 It so happened…

How the Camel got his hump, “ऊंट ने अपने हंप को कैसे पाया” एक मनोरंजक काल्पनिक कहानी है जो रुडयार्ड किपलिंग (एक प्रख्यात लेखक) द्वारा लिखी गयी है। कहानी उस समय की है जब दुनिया नई-नई बनी ही थी और सारे जानवर मनुष्यों के साथ काम करना शुरू ही कर रहे थे। लेकिन एक ऐसा जानवर भी था जो रेगिस्तान में रहकर कोई काम नहीं करना चाहता था। वो बस पेड़ों की डंटे, झारिआं और कांटो को खाता रहता था, और कोई कुछ पूछता था तो बस हम्प (humph) हम्प बोलते रहता था।

जानवरों की सलाह 

How the Camel got his hump Hindi Summaryथोड़ी  देर बाद एक घोड़ा आया, उसकी पीठ पर काठी (saddle) लगा हुआ था. घोड़े ने ऊंट से कहा “ओ ऊंट – ओ ऊंट,  बाहर आओ हमलोग सोमवार से काम कर रहे हैं। जैसे घोड़े चलते हैं (trot) वैसे चलो।” ऊंट बस हम्प कहकर उत्तर दे दिया। घोरा चला गया।

उसके बाद कुत्ता आया. वो अपने मुँह में एक लकड़ी का टुकड़ा लिए हुए था। उसने ऊंट से कहा “ओ ऊंट – ओ ऊंट,  आओ और हमारी तरह लकड़ी खोज कर उसे ढोओ। ऊंट ने फिर वे जवाब ‘हम्प’ कहा. कुत्ते ने ये बात आदमी को कही।

फिर थोड़ी देर बाद एक बैल आया उसके कंधे पर हल की लकड़ी (yoke) टंगी थी। उसने भी ऊंट को आवाज लगायी और अपने जैसे खेत जोतने को कहा। ऊंट का फिर वही जवाब था ‘हम्प।’

दिन के अंत में तीनो जानवर घोड़ा, कुत्ता, और बैल आदमी के पास गए। आदमी ने कहा “‘हम्प’ कहने से काम नहीं चलेगा, ऊंट को तो यहां होना चाहिए। चुकी ऊंट यह नहीं आया है इसलिए उसे वही रहने देता हूँ,  तुमलोगो को इसकी भरपाई के  लिए दुगने समय तक काम करना पड़ेगा।

जिन्न (Djinn) की पंचायत 

How the Camel got his hump summary तीनो जानवरों को इस बात पर बहुत गुस्सा आया और वे जिन्न की पंचायत  में गए। ऊंट भी जुगाल खाता हुआ आया और बाकि जानवरों पर हंसा और फिर हम्प कहा।

जिन्न ने ऊंट को समझने की कोशिश की कि किसी को खाली नहीं बैठना चाहिए और कुछ काम करना चाहिए। पर ऊंट कहाँ मानने वाला था। उसे तो बस हम्प  ही कहना था. जिन्न उसे काम करने को कहा और बताया की वो  सोमवार से आज बुधवार तक कोई काम नहीं किया इसलिए उसे तीन दिन का काम अलग से दिया जाता है। ऊंट हम्प  कहकर नदी में अपनी परछाई देखने लगा।

ऊंट की गर्दन पर हंप

जिन्न ने उसे कहा की उसे हम्प  नहीं कहना चाहिए, सोमवार को जब से काम शुरू हुआ है तुमने कुछ नहीं किया है और और आज गुरुवार है । यह कहकर उसने ऊंट की गरदन पर एक ऊँचा हंप (hump) बना दिया।

ऊंट ने हंप को देखकर कहा “इस हंप के साथ अब में कैसे काम करंगा?” जिन्न ने जवाब दिया “इसका एक उद्देश्य है। यह तुम्हरे तीन दिनों के बचे हुए काम में तुम्हारी मदद करेगा। इससे तुम्हे तीन दिनों तक खाने की ज़रूरत नहीं होगी, रेगिस्तान से बाहर निकलो और बाकी तीन साथियों की मदद करों।

ऊंट को मिली सीख 

अब ऊंट रेगिस्तान  निकल कर तीन जानवरों के साथ हो गया और तब से ऊंट की गर्दन पर हंप हो गया। हंप को पहले hump (humph) कहते थे पर ऊंट को बुरा न लगे इसीलिए हंप (Hump) कहते है। कहते हैं तब से ऊंट काम करना सीख गया पर अभी तक वह अच्छे से बर्ताव करना नहीं सीख पाया है और उसके तीन दिनों का अलग काम अभी तक पूरा नहीं हुआ है.

Next: How the Camel got his hump Summary in English.

How the Camel got his hump Question Answer Solution.

Leave a Comment