Golu Grows a Nose Hindi Summary and English Summary

Golu Grows a Nose Hindi Summary and English Summary

Golu Grows a Nose Hindi Summary

गोलू की लम्बी नाक एक मनोरंजक कहानी है जिसे रुडयार्ड किपलिंग ने लिखा है. रुडयार्ड किपलिंग वही लेखक हैं जिन्होंने मोगली वाला जंगल बुक लिखा था.

पुराने जमाने के हाथी

पुराने जमाने की बात है, उस समय हाथियों को सूढ़ (Trunk) नहीं हुआ करता था. वे भी आम जानवरों की तरह छोटे मुँह वाले हुआ करते थे. उन्ही हाथियों में एक हाथी का बच्चा था गोलू। गोलू बचपन से ही बहुत  जिज्ञासु था, सीधे जानवरों के लिए साधारण सवाल भी बहुत टेढ़े मेढ़े लगते थे और वो जवाब नहीं दे पाते थे.

गोलू का सवाल: आज मगरमच्छ अपने रात के खाने में क्या लेंगे

एक दिन गोलू के मन में ख्याल आया की आखिर आज मगरमच्छ अपने रात के खाने में क्या लेंगे। गोलू ने अपने आसपास के जानवरों से पूछा, किसी को मगरमच्छ के बारे में कोई जानकारी न थी. मैना चिड़िया ने बताया की लिंपपोपो नदी जाओ. गोलू घर वापस आया और खूब सारे गन्ने, केले और तरबूज अपने पीठ पर लादा और खाते-खाते मस्ती में निकल गया. रास्ते में उसे एक अजगर मिला। गोलू ने अजगर भाई से पूछा की उसने कोई मगरमच्छ देखा है या उसका पता बता सकते हैं? अजगर अपनी कुंडली खोल कर नीचे आया पर कुछ नहीं बोला। गोलू ने उसे फिर से कुंडली मारने में मदद की और आगे बढ़ गया. अगले ही दिन लिंपपोपो नदी आ गयी.

मगरमच्छ और गोलू  की लड़ाई 

वहां एक लकड़ी के सामान कोई चीज़ नदी के किनारे बैठी हुई थी. वास्तव में वो एक मगरमच्छ था. जैसे ही गोलू उसके पास आया मगरमच्छ ने अपनी आँख खोली। गोलू उससे पुछा की क्या  मगरमच्छ देखा है है और वो आज अपने रात के खाने में क्या लेने वाले हैं ?

मगरमच्छ तो अपने शिकार की तलाश में था. उसने गोलू को अपने पास आने का इशारा किया और बोला की वो गोलू के कान में बताएगा। गोलू तैयार नहीं हुआ तो मगरमच्छ ने अपने घड़ियाली आंसू बहाने शुरू कर दिये। गोलू को अंततः मगरमच्छ के पास जाना ही पड़ा. जैसे ही गोलू ने अपने कान मगरमच्छ के मुँह से लगाए, मगरमच्छ फुसफुसाया और कहा आज रात के खाने में मैं एक हाथी का बच्चा खाऊंगा। इसे कहते ही मगरमछ ने गोलू के मुँह को पकङ लिया। गोलू ने विनती की कि मगरमच्छ भाई उन्ही छोड़ दें। पर मगरमच्छ कब उसे छोड़ने वाला था,  वह गोलू को नदी के ओर घीचने लगा.

अजगर जो गोलू को रास्ते में मिला था वो गोलू के पीछे पीछे नदी तक आ गया था. उसने गोलू की मदद करनी चाही और गोलू को जोर से अपने मुँह खींचने की सलाह दी और साथ ही साथ खुद भी गोलू को खींचने लगा

गोलू का सूंड 

गोलू के हर खींच के साथ गोलू का मुँह ख़ीचाते चला गया और लम्बा हो गया. अंत में आखिर गोलू मगरमच्छ के चुंगल से बच ही गया पर उसकी सूंड काफी लम्बी हो गयी थी और वो गर्म भी थी. गोलू अपने सूंड को दो दिनों तक लिंपोपो नदी के पानी में डुबाया रखा की वो छोटी हो जाएगी। दो दिनों के बाद सूंड तो ठंडा गया पर सूंड की लम्बाई ज्यों की त्यों थी.

सूंड के फायदे

उस दिन के अंत में एक मक्खी आयी और गोलू के कंधे पर डंक मार दिया।गोलू ने अपने सूंड से उसे मार दिया. अजगर फुसफुसाया फायदा नंबर 1 और कहा अब कुछ खा लो. गोलू ने सूंड की मदद से घांसों को उखारा और जमीन पर पटक कर धुल-मिटटी  साफ़ कर दिया। अजगर ने बताया की बिना सूंड के वो इसे साफ़ नहीं कर पाता, फायदा नंबर 2.

अजगर ने गोलू को इशारा किया की तुम्हे नहीं लगता की सूरज काफी चढ़ आया है.आया है.  गोलू ने अपने सूंड को कीचड़ में लपेटा और माथे पे लगा लिया। अजगर फिर फुस-फसाया फायदा नंबर 3.

गोलू ने अजगर का शुक्रिया किया और अपने लम्बे सूंड के साथ वापस घर लौट चला.

See Also: Golu Grows a Nose solution.

 

Golu Grows a Nose English Summary

Golu grows a nose is a humorous story by Rudyard Kipling (the same author of “The Jungle Book“). The story begins in the past; In past Elephants nose were not like as of now. Instead of a long trunk, they had only a bulgy nose. In the forest, there was a baby elephant name “Golu.” He was a very inquisitive elephant. He always wondered for common questions. Their neighbours had no answers for them.

what crocodiles take in dinner

Golu was in search of the answer to “what crocodiles take in dinner”. Mynah bird suggested him to visit great, grassy Limpopo river.

Golu went home, took numerous sugar canes, bananas and melons and started his journey to the river. In the midway, Golu asked a python about a crocodile who had no clues. Golu helped him in coiling on the tree. Next day he reached the great grassy Limpopo river. Ther he saw a log of wood. The wood was actually a crocodile who winked at Golu.

Golu’s fight with the crocodile

Golu asked him if he had seen a crocodile?  The Crocodile was wanting to bring Golu close to him. He said I am a crocodile. Now Golu asked his query. The crocodile in return replied, “come here I will whisper in the ear.” Golu initially refused. But on insist and “crocodile tears” Golu agreed. Once Golu came closer, The crocodile replied in his ear “a baby elephant will be my dinner today. With this, the crocodile caught Golu by the nose. Golu was hurt, he asked the crocodile to leave him.

The tussle between Golu and the crocodile

The crocodile was not going to leave Golu, kept dragging Golu to the river. Golu pushed his feet in the sand and started pulling his nose. The python was following Golu since they met. He encircled around the Stomach of Golu and kept pulling together. With each pull, Golu’s nose was becoming longer. Finally, Golu was able to escape from the grip of the crocodile, but it hurt his nose.  Golu kept his nose in water for two days in anticipation that the nose will shrink. After 2 days nose was not hurting but it did not shrink.

Golu came to know long trunk is good

Golu was sad with log nose and wrapped it in a long banana leaf. A fly came and stung Golu. Golu hit the fly with the long trunk. Next time Golu had to dust off the plucked twigs; long trunk helped Golu in getting rid of dust from the twig. It was hot sun there, Golu used his trunk to pick the mud and slapped it on the head.

See Also: Golu Grows a Nose solution.

An Alien Hand Summary & Solution; NCERT Class 7 English

 

1. The Tiny Teacher
2. Bringing up Kari
3. The Desert
4. The Cop and the Anthem
5. Golu Grows a Nose
6. I Want Something in a Cage
7. Chandni
8. The Bear Story
9. A Tiger in the House
10. An Alien Hand

Ref: NCERT class 7 An Alien hand.

 

Leave a Comment